कविता -- कुन्दन पाटिल -- पैसा क्या है?


जुलाई-अक्टूबर 10 ---------- वर्ष-5 अंक-2
--------------------------------------------------------
कविता-कुन्दन पाटिल
पैसा क्या है?


पैसा क्या है?
इस संसार के
व्यवहार को चलायमान
रखने का माध्यम।
पैसा क्या है?
मेहनत का मोती
सुख की रोटी
आत्म-स्वाभिमान का सूख।
पैसा क्या है?
व्यवहार का दर्पण
शोहरत पिपासा
अहंकार की जड़।
पैसा क्या है?
मोहपाश का बंधन
माया का जाल
क्रम का है चक्र।
पैसा क्या है?
दुश्मनी का पदार्पण
भाई का भाई से बैर
अलगाव की गाथा।
पैसा क्या है?
मन की प्यास
सख की आस
पैसों की भूख।

==================================
129 नयापुरा,
मराठा समाज, देवास (म0प्र0)

  © Free Blogger Templates Photoblog III by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP